विभाग
जनजातीय भाषा

केन्द्र का संक्षिप्त परिचय :

राज्य के जनजातीय समुदाय की इच्छाओं का सम्मान करने तथा जनजातीय भाषा के मानक को उन्नत करने के उद्देश्य से बांग्ला विभाग के अंतर्गत वर्ष 1994 में कोकबोरॉक भाषा में सर्टिफिकेट कोर्स प्रारंभ किया गया। इसके साथ ही वर्ष 2003 में जनजातीय भाषा केन्द्र भी स्थापित की गई जिसके बाद कोकबोरॉक में सर्टिफिकेट कोर्स को डिप्लोमा कोर्स के तौर पर उन्नत कर दिया। प्रत्येक वर्ष औसतन 20 छात्र डिप्लोमा कोर्स में दाखिला लेते हैं।

© त्रिपुरा विश्वविद्यालय                                                                                                                                                      रूपांकन : वाया विटे सॉल्यूशनस