विभाग
कॉकबरक विभाग

विभाग का संक्षिप्त विवरण:

कॉकबरक विभाग विश्वविद्यालय में स्थापित नए विभागों में से एक है, जिसकी स्थापना अकादमिक सत्र 2015 में हुई। पूर्वोतर भारत में बोली जाने वाली कॉकबरक भाषा मूलत: तिब्बत-बर्मन भाषा परिवार के बोडो-गारो उप-समूह की चीनी-तिब्बती परिवार में बोली जाने वाली भाषा है। वर्ष 1979 से त्रिपुरा की राजभाषा के तौर पर कॉकबरक को स्थान प्राप्त है। इस भाषा का चलन त्रिपुरा के प्रमुख जनजाति समुदाय के मध्य है।

स्थापना वर्ष :

2015

विभागाध्यक्ष (प्रभारी):

प्रो. सुखेन्दु देबबर्मा

प्रदत्त पाठ्यक्रम :

कॉकबरक में स्नातकोत्तर(एमए)

प्रवेश क्षमता :

50

प्रदत्त विभिन्न कार्यक्रम का पाठ्यक्रम :

संगोष्ठी /सम्मेलन/ कार्यशाला / पुनश्चर्या/ अभिमुखीकरण आदिआयोजित :

सम्पर्क के लिए पता :

कॉकबरक विभाग, अकादमिक भवन 2
त्रिपुरा विश्वविद्यालय, सूर्यमणिनगर -799022
ई.मेल : hod_kokborok[at]tripurauniv.in

 
© त्रिपुरा विश्वविद्यालय                                                                                                                                                      रूपांकन : वाया विटे सॉल्यूशनस