विभाग
पदार्थ विज्ञान एवं अभियांत्रिकी विभाग

विभाग का संक्षिप्त विवरण:

पदार्थ विज्ञान एवं अभियांत्रिकी विभाग विश्वविद्यालय का नया विभाग है, जिसे विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा 12वीं योजना के अंतर्गत स्वीकृत विभागों के अंतर्गत स्थापित किया गया है। पदार्थ विज्ञान एवं अभियांत्रिकी विभाग वर्ष 2016 में स्थापित किया गया जिसने अपनी पहली यात्रा अगस्त, 2016 में प्रथम बैच के साथ शुरू की। विभाग की सबसे बड़ी विशेषता ये है कि पूर्वोत्तर में ये इस तरह का पहला विभाग है जो पदार्थ विज्ञान एवं अभियांत्रिकी में तकनीकी में स्नातकोत्तर (एम.टेक.) पाठ्यक्रम संचालित करता है। संप्रति विभाग 15 छात्रों की प्रवेश क्षमता के साथ चार सेमेस्टरीय एम. टेक. पाठ्यक्रम संचालित कर रहा है।

अध्यापन एवं शोध के क्षेत्र में विभाग का मुख्य लक्ष्य अंतर-विद्यावर्ती क्षेत्र में केन्द्रित करना है ताकि वैश्विक स्तर पर विभाग की ओर ध्यानाकर्षण के साथ-साथ इसकी सराहना की जा सके। अभियांत्रिकी के क्षेत्र में विशिष्ट तौर पर तैयार ये पाठ्यक्रम छात्रों को विभिन्न पदार्थों यथा – धातु, अर्धचालक, मृत्तिका, पॉलिमर तथा पदार्थीय गुण एवं संरचनात्मक गुण के सम्मिश्रण का संबंध स्थापित करने में तकनीकी ज्ञान उपलब्ध करवाता है। नए उभरते अतिसूक्ष्म पदार्थों अध्ययन करने हेतु विभाग विशेष तौर पर तैयार है। पदार्थ विज्ञान एवं अभियांत्रिकी विभाग विभिन्न धातु, अकार्बनिक एवं कार्बनिक पदार्थ जिनका विभिन्न उद्योग यथा – परमाणु, अंतरिक्ष, प्रशीतनी, पेट्रोरसायन, समुद्री, रक्षा, इलेक्ट्रॉनिक्स, अक्षय ऊर्जा, जीव विज्ञान एवं औषधि इत्यादि को भी अपने अध्ययन में सम्मिलित करना चाहता है। संप्रति, विभाग का ध्यान बहु-केन्द्रित गतिविधियों पर है जिसका उद्देश्य शिक्षा, शोध एवं औद्योगिक परामर्श हेतु गहन अध्ययन करना है। अध्यापन के अलावा, विभाग का लक्ष्य ऐसे तकनीकी विशेषज्ञ को तैयार करने का है जिसमें आवश्यक तकनीकी ज्ञान के साथ-साथ मानव एवं सामाजिक महत्व, नेतृत्व का गुण तथा प्रबल आत्म विश्वास एवं तकनीकी रचनात्मकता का गुण हो।

पाठ्यक्रम का निर्माण इस क्षेत्र के व्यापक अध्ययन के बाद आधुनिक आवश्यकता के अनुरूप किया गया है। एम. टेक. के पाठ्यक्रम में दो सेमेस्टर में कोर्सवर्क एवं दो सेमेस्टर में परियोजना कार्य को रखा गया है ताकि संबंधित क्षेत्र में छात्रों के ज्ञान का समन्वय किया जा सके। संप्रति, पदार्थ विज्ञान एवं अभियांत्रिकी विभाग में दो संकाय सदस्य की नियुक्ति संभव हो पाई है, जिनकी शोध में सीमांत विशेषज्ञता है। इन संकाय सदस्यों के अंतरराष्ट्रीय स्तर के 35 से अधिक शोध जर्नलों में आलेख प्रकाशित हो चुके हैं।

सक्रिय शोध क्षेत्र:

  • पावडर प्रोसेसिंग ऑफ सेरेमिक, पावडर मेटलर्जी
  • कॉरोजन, स्ट्रेस कॉरोजन क्रैकिंग, इलेक्टोकेमिकल स्टडी
  • इंडस्ट्रियल सॉलिड वेस्ट यूटीलाइजेशन एंड मैनेजमेंट
  • फंक्शनल नैनोमटेरियल्स
  • इलेक्ट्रोनिक, ऑप्टो-इलेक्ट्रोनिक एंड स्पिन्ट्रोनिक मटेरियल्स
  • नैनोमटेरियल्स फॉर एनर्जी स्टोरेज एंड हार्वेस्टिंग

स्थापना वर्ष :

2016

विभागाध्यक्ष :

-

प्रदत्त पाठ्यक्रम :

पदार्थ विज्ञान एवं अभियांत्रिकी में तकनीकी स्नातकोत्तर (एम.टेक.)

प्रवेश क्षमता :

15

प्रदत्त विभिन्न कार्यक्रम का पाठ्यक्रम :

संगोष्ठी /सम्मेलन/ कार्यशाला / पुनश्चर्या/ अभिमुखीकरण आदिआयोजित :

सम्पर्क के लिए पता :

पदार्थ विज्ञान एवं अभियांत्रिकी विभाग
उत्तरी खंड, अकादमिक भवन 5 (पूर्व में जीव विज्ञान भवन)
त्रिपुरा विश्वविद्यालय, सूर्यमणिनगर - 799022
ई.मेल : hod_msen[at]tripurauniv.in

 
© त्रिपुरा विश्वविद्यालय                                                                                                                                                      रूपांकन : वाया विटे सॉल्यूशनस