विभाग
रसायनिक एवं पॉलिमर अभियांत्रिकी विभाग

विभाग का संक्षिप्त विवरण:

रसायनिक एवं पॉलिमर अभियांत्रिकी विभाग विश्वविद्यालय का नया विभाग है, जिसे विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा 12वीं योजना के अंतर्गत स्वीकृत विभागों के अंतर्गत स्थापित किया गया है। विभाग ने अपनी पहली यात्रा अगस्त 2016 में विभाग के प्रथम बैच के प्रारंभ के साथ की। विभाग द्वारा संचालित एम. टेक. पाठ्यक्रम चार सेमस्टरीय है जिसकी प्रवेश क्षमता 15 है। इस पाठ्यक्रम का मुख्य उद्देश्य रसायनिक एवं पॉलिमर अभियांत्रिकी के क्षेत्र में अध्यापन, औद्योगिक परामर्श तथा शोध एवं विकास हेतु हरसंभव सहायता उपलब्ध करा इसे उन्नत बनाना है। पाठ्यक्रम का निर्माण इस क्षेत्र में हाल में हुए विकास को ध्यान में रखकर किया गया है। विभाग का यह भी उद्देश्य है कि वह रसायनिक अभियांत्रिकी के क्षेत्र में मांग के अनुरूप कुशल एवं सुशिक्षित रसायनिक अभियंता तैयार कर सकें ताकि वे डिजाइन, विनिर्माण एवं विपणन के क्षेत्र में लगे औद्योगिक प्रतिष्ठानों के मानकों पर खरा उतर सकें।

स्थापना वर्ष :

2016

विभागाध्यक्ष :

-

प्रदत्त पाठ्यक्रम :

रसायनिक एवं पॉलिमर अभियांत्रिकी में एम. टेक.

प्रवेश क्षमता :

15

प्रदत्त विभिन्न कार्यक्रम का पाठ्यक्रम :

  • स्नातकोत्तर : जल्द ही अपलोड किए जाएंगे ।
  • पीएच.डी. कोर्स वर्क : अभी प्रारंभ नहीं हुआ है ।
  • शोध अर्हता परीक्षा (आरईटी): अभी आवश्यक नहीं ।

संगोष्ठी /सम्मेलन/ कार्यशाला / पुनश्चर्या/ अभिमुखीकरण आदिआयोजित : कोई नहीं

सम्पर्क के लिए पता :

रसायनिक एवं पॉलिमर अभियांत्रिकी विभाग
उत्तरी खंड, अकादमिक भवन 5 (पूर्व में जीव विज्ञान भवन)
त्रिपुरा विश्वविद्यालय, सूर्यमणिनगर - 799022
ई.मेल : This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.

 

परियोजना शोधार्थी :

सुश्री भुवनेश्वरी बल, (जेआरएफ), डीएसटी, भारत सरकार, परियोजना शीर्षक “बायोरिएक्टर बेस्ड इंहैंस्ड बायोरिकवरी ऑफ मैंग्नीज फ्रॉम माइनिंग वेस्ट रेसिड्यूज” 2016- 2019.

स्टाफ सदस्य:

फोटोनामपदसंपर्क विवरण
श्री बिकास देबबर्मा एमआरडब्ल्यू मो. +91-9862026300
© त्रिपुरा विश्वविद्यालय                                                                                                                                                      रूपांकन : वाया विटे सॉल्यूशनस