विभाग
बांग्ला विभाग

विभाग का संक्षिप्त परिचय :

बांग्ला विभाग की स्थापना वर्ष 1977 में तत्कालीन कलकत्ता विश्वविद्यालय केस्नातकोत्तर केन्द्र में हुई थी। जब वर्ष 2007 में त्रिपुरा विश्वविद्यालय की स्थापना हुईतब यह विभाग कला और वाणिज्य संकाय के अंतर्गत महत्त्वपूर्ण विभाग बना

  • प्रस्तावित शैक्षिक एवं शोध कार्यक्रम।
  • पाठ्यक्रम और शोध कार्यक्रमों हेतु प्रमुख क्षेत्र:प्राचीन,मध्यकालीन तथा आधुनिक साहित्य और भाषा,त्रिपुरा तथा पूर्वोत्तरऔर बांग्लादेश के साहित्य की ऐतिहासिक और सांस्कृतिक पृष्ठभूमि। शोधकार्यक्रम सहित मध्यकालीन और आधुनिक बांग्ला उपन्यास, लघु कथाएँ, कविता, नाटक, लोक साहित्य, भाषा विज्ञान, टैगोर अध्ययन, जनजातीय साहित्य और भाषा (कोकबोरॉक)।
  • विभाग का विशेष योगदान : त्रिपुरा की प्रमुख जनजातीय भाषा कोकबोरॉक मेंबांग्ला विभाग के द्वारा उपाधिपत्र-पाठ्यक्रम प्रारम्भ किया गया (अभीकोकबोरॉक अलग विभाग के रूप में गाँधीघाट अगरतला में पढ़ाया जाता है)।त्रिपुरा के क्षेत्रीय इतिहास, संस्कृति और साहित्य पर शोध कार्य चल रहाहै।
  • स्वीकृत पद- दो प्राध्यापक, दो रीडर तथा पाँच सहायक प्राध्यापक।
  • नया पाठ्यक्रम (सेमेस्टर पद्धति) सत्र 2008 से प्रस्तावित किया गया है।
  • स्थान, शिक्षक आदि की सीमित व्यवस्थाओं की आधारभूत संरचना के कारणऑनर्स के साथ उतीर्ण बड़ी संख्या में छात्रप्रवेश नहीं पा पाते हैं तथापिअनेक जनजतीय छात्र प्रत्येक वर्ष बांग्ला साहित्य अध्ययन हेतु चुन रहे हैं।
  • कु. पद्मकुमारी चकमा, जनजातीय छात्रा ने वर्ष 2005 में प्रथम स्थान प्राप्त किया साथ ही वह नेट तथा जेआरएफ भी उत्तीर्ण हुई ।
  • आरईटी परीक्षा भी वर्ष 2008 से इस विभाग में प्रारम्भ की गई।

स्थापना वर्ष :

1977

विभागाध्यक्ष :

डॉ. रिंटू दास, समन्वयक

शोध हेतु प्रमुख क्षेत्र :

  • लोक अध्ययन
  • मध्यकालीनअध्ययन
  • जनजातीयअध्ययन
  • टैगोरअध्ययन
  • गल्प
  • लिंगअध्ययन

संचालित पाठ्यक्रम :

बी.ए.(फाउन्डेशन बांग्ला),एम.ए.,पीएच.डी.(एक सेमेस्टर पीएच.डी कोर्सवर्क),समेकित स्नातकोत्तर डिग्री (आईएमडी) कार्यक्रम

प्रवेश क्षमता :

एमए -90, आईएमडी - 12

कुल नेट/सेटपात्रता प्राप्त छात्र :

11

पीएच.डी उपाधि प्रदत्त कुल छात्र :

31

सम्पूर्ण शोध परियोजना अनुदान (पूर्ण व अविरत ) :

---

प्रदत्त विभिन्न पाठ्यक्रम के पाठय विवरण :

संगोष्ठी /सम्मेलन/ कार्यशाला / पुनश्चर्या/ अभिमुखीकरण आदि आयोजित :

  • बांग्ला विभाग में विशेष व्याख्यान , 28 नवंबर 2016
  • ‘बांग्ला कथा-साहित्ये बंग बहिरभूता पताभूमि’, पर राष्ट्रीय संगोष्ठी ,दिनांक : 21 सितंबर, 2006.
  • ‘माणिक बंदोपाध्याय :जीबन ओ साहित्य’, पर अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी, दिनांक : 24 जनवरी, 2008.
  • ‘दलित संदर्भ, नारी बिमर्श और कथाकेर : प्रेमचंद और शरतचंद्र’, पर हिन्दी व बांग्ला विभाग, त्रिपुरा विश्वविद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में राष्ट्रीय संगोष्ठी आयोजित, दिनांक – 19 मार्च, 2008
  • ‘शतबर्षे स्मरण :बुद्धदेव बसु ओ गजेन्द्र कुमार मित्रा’ साहित्य अकादमी, कोलकाता शाखा के वित्तीय सहायता से अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी आयोजित, दिनांक: 7 नवंबर, 2008.
  • ‘शतबर्षे फिरे देखा : आशापूर्णा देवी ओ सुबोध घोष’, पर राष्ट्रीय संगोष्ठी, दिनांक – 5 मार्च, 2010
  • ‘जन्म सार्ध शतबर्षे स्मरण :कबियाल हरिचरण आचार्जी ओ बांग्ला कबिगण’ पर अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी, दिनांक – 5 अक्टूबर, 2010.
  • ‘रबीन्द्रनाथ : साहित्य ओ सम्स्कृतिर प्रेक्षापते सार्ध शताबार्षिक समीक्षा’, पर राष्ट्रीय संगोष्ठी, दिनांक : 18 नवंबर, 2010

सम्पर्क के लिए पता:

बांग्ला विभाग
त्रिपुरा विश्र्वविद्यालय
सूर्यमणिनगर– 799022,
त्रिपुरा, भारत.
ई-मेल : This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.

--

स्टाफ सदस्य :

फोटोनामपदसंपर्क विवरण
रीना सरकार डीआरडब्ल्यू

9612013406

लक्ष्मी रानी देबनाथ डीआरडब्ल्यू

8575808405

पीएच.डी. स्कॉलर्स:

फोटोनामथीसीस का शीर्षक वपर्यवेक्षककानामसंपर्क विवरण
संदीप देब त्रिपुरार ओ बराक अंचलेर मुद्रितो बिभिन्नो ग्रंथे ओ लोकोमुखी प्रचलितो लौकिक धारार संकलन एवम शिस्टो साहित्येर प्रयोग ओ बिश्लेषण धर्मी समीक्षा
पर्यवेक्षक : डॉ. निर्मल दास
दूरभाष : 09862723131
ई-मेल : This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.
राजीव चंद्र पॉल पुथिपथ ओ पुथि बिचार : मश्यजुगार बांग्ला अनुबाद –अनुसारी रामायण पलकाव्येर धारेय भावनी नाथ (दास) बिरचित 'श्री रामचंद्रेर अभिषेक' शीर्षक स्वसंगृहिता पुथि थेके ग्रंथो संपादन ओ काव्य समीक्षा
पर्यवेक्षक : डॉ.
दूरभाष : 09862892294
ई-मेल : This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.
अमृता साहा प्रफुल्ल रायेर उपन्यासे समय, समाज ओ संकट : एक्टि निबीर समीक्षा
पर्यवेक्षक : डॉ. मैत्रेयी दत्ता
दूरभाष : 09862581701
ई-मेल : This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.
प्रशांत दास - दूरभाष : 9863496179, 8794923379
ई-मेल : This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.
© त्रिपुरा विश्वविद्यालय                                                                                                                                                      रूपांकन : वाया विटे सॉल्यूशनस