विभाग
औषध विज्ञान विभाग

विभाग का संक्षिप्त परिचय :

त्रिपुरा विश्वविद्यालय (केन्द्रीय विश्वविद्यालय) में औषधि-निर्माण विज्ञान विभाग की स्थापना वर्ष 2011 में त्रिपुरा में पहली बार औषधि-निर्माण विज्ञान में स्नातकोत्तर शिक्षा और शोध प्रशिक्षण की उपलब्धता के उद्देश्य से की गई। औषधि-निर्माण विज्ञान विभाग का प्राथमिक उद्देश्य औषधि-निर्माण विज्ञान शिक्षा एवं शोध से संबंधित वर्तमान वैश्विक मानकों एवं चुनौतियों के अनुरूप कार्यक्रम विकसित करना है। औषधि-निर्माण विज्ञान विभाग समकालीन स्वास्थ्य समस्याओं के लिए नई औषधियाँ विकसित करने में शोध उत्कृष्टता के लिए भी प्रयासरत है। विश्वविद्यालय औषधि-निर्माण विज्ञान से संबंधित विषयों में मास्टर ऑफ फार्मेसी (एम.फार्मा., चार-सत्रीय पूर्णकालिक कार्यक्रम) व पीएच.डी. कार्यक्रम उपलब्ध कराता है। विभाग आधुनिक सैद्धांतिक ज्ञान के साथ औषधि-निर्माण विज्ञान के क्षेत्र में स्वतंत्र शोध प्रशिक्षण के सम्मिश्रण को संकाय सदस्यों के मार्गदर्शन में उपलब्ध कराता हैं। हमारे पाठ्यक्रमों की पाठ्य सामग्री अंतर्विषयक औषधि-निर्माण विज्ञान और जैवचिकित्सकीय दृष्टिकोणों के माध्यम से औषधियों के औषधिक प्रभाव को बढ़ाने या विषाक्तता को कम करने पर बल देते हैं। विभाग में छात्रों को चिकित्सा और जैवकार्बनिक रसायन विज्ञान, जैव-औषधि विज्ञान, आधुनिक विश्लेषण तकनीकी एवं संरचना-आधारित औषधि शोध से संबंधित अध्यापन कराया जाता है। पाठ्यक्रम आधुनिक विज्ञान डाटाबेस और वैज्ञानिक लेखन तकनीकी के प्रभावशाली प्रयोग पर भी बल देता है। भारत और विश्व में औषधि-निर्माण विज्ञान उद्योग और अकादमियों में पेशेवर रोज़गार अवसर उपलब्ध कराने के लिए कार्यक्रम तैयार किये गए हैं।

स्थापना वर्ष :

2011

विभागाध्यक्ष (प्रभारी) :

प्रो. महेश कुमार सिंह

उपलब्ध कार्यक्रम :

  • एम.फार्मा. (शोध प्रबंध सहित चार-सत्रों में विभाजित दो वर्षीय कार्यक्रम)
  • पीएच.डी. (छ: माह का कोर्स वर्क एवं थीसिस वर्क)

प्रवेश क्षमता :

  • एम.फार्मा में प्रति वर्ष 10 छात्र
  • वर्तमान रिक्ति के अनुसार पीएच.डी

नेट पात्रता प्राप्त कुल छात्र :

---

पीएच.डी. उपाधि प्रदत्त कुल छात्र :

---

कुल शोध परियोजना अनुदान (पूर्ण एवं जारी) :

---

उपलब्ध विभिन्न कार्यक्रमों हेतु पाठ्यक्रम :

  • औषधि रसायन विज्ञान में एम.फार्मा : डाउनलोड करें
  • पीएच.डी. कोर्स वर्क : डाउनलोड करें
  • अनुसन्धान पात्रता परीक्षा (आरईटी) : डाउनलोड करें
 

हमसे संपर्क करें :

औषधि-निर्माण विज्ञान (फार्मेसी) विभाग,
त्रिपुरा विश्वविद्यालय (केन्द्रीय विश्वविद्यालय),
सूर्यमणिनगर, त्रिपुरा (पश्चिम), पिन – 799 022,
दूरभाष : (0381)-2379003, फैक्स : (0381)-2374803
ई-मेल : hod_pharmacy[@]tripurauniv.in

प्रयोगशाला सुविधाएँ :

--

शोध समूहों का विवरण :

  • नोवल मैक्रोमॉलिक्यूलर औषधि लक्ष्यों की खोज एवं लक्षणों का उल्लेख |
  • चिकित्सकीय और जैवकार्बनिक रासायनिक दृष्टिकोणों के प्रयोग द्वारा भावी औषधियों की संरचना आधारित डिज़ाइन और विकास |
  • रोग पैथोफिजियोलॉजी और ऑप्टिमाइज़िंग चिकित्सा विज्ञान (औषधि उपापचय, फार्माकोकाइनेटिक्स, औषधि प्रतिक्रिया, विषविज्ञान को समझने में जैवऔषधिविज्ञान और विषविज्ञान सिद्धांतों(एडीएमई/टॉक्स) का प्रयोग |
  • भावी औषधियों के रूप में नई रासायनिक इकाइयों की प्राकृतिक उत्पाद आधारित खोज और विकास |
  • औषधि कोश (आईपी, बीपी, यूएसपी व अन्य) उपायों के अनुसार एपीई और फॉर्मूलेटेड औषधि का आंकलन |
  • औषधि विज्ञान अनुसन्धान में आधुनिक विश्लेषण प्रणालियों और गुणवत्ता आश्वासन सिद्धांतों का प्रयोग |

पीएच.डी. स्कॉलर्स :

चित्रनामविषय और पर्यवेक्षक के नामसंपर्क विवरण
श्री प्रियतोष सरकार निर्णयाधीन
पर्यवेक्षक : डॉ. कुंतल मन्ना
दूरभाष : +91-09862264465
ई-मेल : This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.
© त्रिपुरा विश्वविद्यालय                                                                                                                                                      रूपांकन : वाया विटे सॉल्यूशनस